गुरुवार, 24 नवंबर 2011

राधे रमण कहो : Radhe Radhe Kaho: Sanjay Mehta Ludhiana








जय माता दी जी , जय माता दी जी , जय माता दी



जिस हाल मे, जिस देश मे, जिस भेष मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

जिस रंग मे, जिस ढंग मे , जिस संग मे रहो

राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

जिस काम मे, जिस धाम मे, जिस गावं मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे ध्यान मे, चाहे ज्ञान मे , चाहे अभिमान मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे रोग मे, चाहे भोग मे, चाहे जोग मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे हँसते हो, चाहे रोते हो, चाहे मौन ही रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे सोते हो, चाहे जागते हो, चाहे सपने मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे खाते हो, चाहे पीते हो , चाहे भूखे ही रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे राग मे, चाहे अनुराग मे , चाहे बेराग मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

जिस संसार मे, जिस परिवार मे, जिस घर बार मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

जिस मान मे, जिस सम्मान मे , अपमान मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

जिस धर्म मे , जिस कर्म मे , जिस मर्म मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे मथुरा मे, चाहे वृन्दावन मे, चाहे गौकुल मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे हरिद्वार मे , चाहे ऋषिकेश मे , चाहे प्रयाग मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

चाहे इह लोग मे, चाहे परलोक मे , चाहे गौलोक मे रहो
राधे , रमण, राधे रमण राधे रमण कहो

बोलिए सचिया ज्योत वाले मेरे मांजी की जय
बोलिए मेरी माँ राज रानी की जय
बोलिए मेरी माँ दुर्गा की जय
बोलिए मेरी माँ वैष्णवी की जय
जय माता दी जी







कोई टिप्पणी नहीं: